1 हफ्ते में इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें (interview preparation in Hindi )

Spread the love

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हम पढ़ेंगे इंटरव्यू क्या होता है, इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें, इंटरव्यू का Hindi meaning, interview preparation in Hindi आदि और देखेंगे की किस प्रकार इंटरव्यू की तैयारी सम्पूर्ण रूप से की जा सकती है | परीक्षा में सफल होने के बाद एक ग्रुप डिसकशन किया जाता है जिसमे उन सभी कैंडिडेट्स को सेलेक्ट किया जाता है जो कॉंफिडेंट हो और आगे बढ़कर हिस्सा लेते हो | इसलिए हमेशा अपने आत्म विश्वास को बनाये रखे |

इंटरव्यू का हिंदी Meaning

आम तोर पर इंटरव्यू को हिंदी भाषा में साक्षातकर कहा जाता है | यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे दो या दो से अधिक लोगों के बिच वार्तालाप होता है | यह वार्तालाप शिक्षा से लेकर नौकरी तक किसी भी बिषय में हो सकता है | हां तो दोस्तों अब मुझे लगता है कि आप interview ka Hindi meaning समझ गए होंगे|

इंटरव्यू की तैयारी कैसे करे ?

इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें यह एक ऐसा सवाल है जो हर किसी के मन में आता है जब है नौकरी की तलाश करता है चाहे वह सरकारी नौकरी हो या प्राइवेट हो इसलिए इंटरव्यू के लिए सबसे महत्वपूर्ण है की हम कितने साफ तरिके से अपनी बात को सामने प्रस्तुत कर सकते है | हमें बिना किसी झिझक के अपनी बात रखने का हौसला कायम रखना चाइये | तो चलिए पढ़ते है interview preparation in Hindi.

कुछ लोगों के मन इंटरव्यू के नाम से घबराहट हो जाती है | कुछ तो इंटरव्यू के दौरान इतना  घबरा जाते है की पूछे गए प्रश्नों के उत्तर पता होने के  बाद भी उनका जवाब नही दे पाते है। इंटरव्यू के दौरान होने वाली घबराहट, डर से बचने के लिए निम्न कुछ उपाय मददगार साबित हो सकते है :-

1. अपने रिज्यूमे को प्रभावी बनाये :

चाहे आप फ्रेशर हो या तजुर्बा रखते है, अगर आपको नौकरी चाइये तो एक रिज्यूमे की जरूरत पड़ेगी | किसी भी तरह की जॉब के लिए चाहे वह अकादमी या नॉन अकादमी, चाहे निजी कंपनी हो या सरकारी नौकरी या फिर कोई MNC की नौकरी, हर जगह आपको नौकरी पाने के लिए रिज्यूमे या CV की जरूरत पड़ती है |

 जब भी किसी कंपनी से कोई वैकेंसी निकलती है तो कैंडीडेट्स के सेलेक्शन की सबसे पहली सीडी रिज्यूमे ही होती है| उस वैकेंसी के लिए कैंडिडेट से उसका रिज्यूमे ही मंगाया जाता है | कैंडीडेट्स के रिज्यूमे के आधार पर ही कंपनी रिक्रूटर्स यह तय करते हैं कि उस कैंडिडेट को नौकरी के लिए बुलाना है या नहीं |

ज्यादातर कैंडिडेट रिज्यूमे और सीवी को एक ही मानते हैं | और हर कंपनी में जॉब पोजीशन के लिए एक ही रिज्यूमे या सीवी भेजते रहते हैं | जिससे उनका रिज्यूमे पढ़ा ही नहीं जाता है और उन्हें नौकरी मिलने के चांस बहुत कम हो जाते हैं |

दोस्तों रिज्यूमे और टीवी दोनों का उद्देश्य तो एक ही होता है लेकिन दोनों होते हैं बिल्कुल अलग अलग | रिज्यूमे और सीबी में अंतर होता है और दोनों को अलग-अलग जगह पर अलग-अलग जॉब प्रोफाइल के लिए यूज किया जाता है | तो आइए पहले जानते हैं कि यह क्या होता है :


रिज्यूमे क्या होता है :

रिज्यूमे क्या होता है :

तो चलिए जानते है की रिज्यूमे क्या होता है, रिज्यूमे एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता है जो आपकी शिक्षा,  योग्यता, कार्य अनुभव,  उपलब्धियों का संक्षिप्त विवरण उस कंपनी के एचआर मैनेजर के सामने पेश करता है जिसमें आप नौकरी करने के इच्छुक हैं | रिज्यूमे में आपकी शिक्षा,  कार्य, अनुभव, दक्षता,  योग्यता और आप की उपलब्धियों के महत्वपूर्ण बिंदुओं का जिक्र होता है | रिज्यूमे ज्यादा बड़ा नहीं होता है यह एक या दो पेज का ही होता है इसलिए इसमें सिर्फ उन बातों और जानकारियों को हाइलाइट किया जाता है जो उस जॉब की जरूरतों में शामिल हो |

इसमें में हर बात शार्ट में लिखी जाती है| रिज्यूम में एक तरह से कैंडिडेट के प्रोफेशनल प्रोफाइल का स्नेपशार्ट होता है | रिज्यूमे सिर्फ इंटरव्यू तक पहुंचने का एक रास्ता है | रिज्यूमे के आधार पर ही कैंडिडेट्स को इंटरव्यू के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाता है |

रिज्यूमे छोटा क्यों होना चाहिए

कुछ कंपनियों का मानना है कि रिक्रूइटेर किसी भी रिज्यूमे को पढ़ने में औसतन 6 सेकंड का समय खर्च करते हैं | इन 6 सेकेंड्स में ही रिक्रूटर्स यह तय कर लेते हैं कि रिज्यूमे को इंटरव्यू के लिए सिलेक्ट करना है या नहीं |

 इसलिए रिज्यूमे छोटा बनाया जाता है और ज्यादा से ज्यादा 2 पेज का होना चाहिए| आपके रिज्यूमे में आपकी कार्यकुशलता,  योग्यता और अनुभव इतने प्रभावशाली ढंग से लिखी होनी चाहिए कि रिज्यूमे देखते ही रिपोर्टर्स पर उसका प्रभाव पड़े और वह पहली नजर में ही आपका रिज्यूम सेलेक्ट कर ले |

 ज्यादातर लोगों को यह नहीं पता होता कि एक अच्छा रिज्यूमे कैसे बनाएं रिज्यूमे बनाना भी एक कला है |  अगर वह आप में सारे गुण योग्यता है,  जो उस जॉब के लिए आवश्यक है जिसके लिए आप अप्लाई कर रहे हो लेकिन आप अपने रिज्यूमे के माध्यम से बताने में सक्षम नहीं हो तो आपके सारे गुण सारी योग्यता बेकार है | इंटरव्यूअर आपके रिज्यूमे को बिना पढ़े ही डस्टबिन में डाल देगा |

रिज्यूमे का उद्देश्य क्या है?

 किसी भी कंपनी में जब भी कोई वैकेंसी ओपन होती है तो कंपनी उस वैकेंसी का पूरा जॉब प्रोफाइल,  रोल,  रिस्पांसिबिलिटीज,  उस जॉब के लिए जरूरी क्वालीफिकेशंस,  योग्यताएं आदि का ऐड निकालती है | फिर उस कंपनी का हायरिंग मैनेजर इंटरव्यू से पहले कैंडिडेट के रिज्यूमे मंगवाता है |

हायरिंग मैनेजर रिज्यूमे के आधार पर ही यह तय करता है कि वह कैंडिडेट उस जॉब प्रोफाइल के लिए उपयुक्त है या नहीं | जो योग्यताएं कार्यकुशलता अनुभव इंटरव्यूअर उस पोजीशन के लिए किसी कैंडिडेट में चाहता है वह उसे उसके रिज्यूमे से ही पता चलती है |

हायरिंग मैनेजर रिज्यूमे के आधार पर कैंडिडेट को इंटरव्यू के लिए बुलाता है | रिज्यूमे के आधार पर शॉर्टलिस्ट करने से कैंडिडेट और रिक्रूटर्स दोनों को फायदा होता है,  दोनों का समय और पैसा बचता है |

रिज्यूमे बनाते समय कुछ बाते जो हमेध्यान रखनी चाहिए :

1. रिज्यूमे को छोटा, सरल,  प्रभावशाली और व्यावसायिक होना चाहिए रिज्यूमे में अनावश्यक बातें ना लिखें |

2. रिज्यूमे को हर कंपनी तथा हर जॉब प्रोफाइल के हिसाब से कस्टमाइज्ड करना चाहिए |

3. रिज्यूमे में ग्रामेटिकल मिस्टेक्स और स्पेलिंग एरर्स नहीं होनी चाहिए |

4. रिज्यूमे दो पेज से ज्यादा नहीं होना चाहिए |

5. रिज्यूमे में कभी पर्सनल डिटेल्स जैसे एज,  रिलीजियन, मैरिटल स्टेटस,  बर्थ डेट, पिता का नाम आदि नहीं लिखना चाहिए |

6. रिज्यूमे में हर बात,  हर तथ्य बिल्कुल सत्य होना चाहिए कभी भी भूल कर भी कोई गलत जानकारी या झूठी बात रिज्यूमे में ना लिखें |

आपको रिज्यूमे में क्या जानकारी देनी चाइये?

1. संपर्क की जानकारी

 2.  कैरियर उद्देश्य विवरण

 3.  कार्य अनुभव

 4. शैक्षणिक योग्यता

5. योग्यता और रुचियां

  6.  अतिरिक्त कोर्स

सीवी और रिज्यूमे में अंतर

रिज्यूमे संक्षिप्त होता है और आमतौर पर एक पेज का होता है और ज्यादा से ज्यादा 2 पेज का हो सकता है रिज्यूमे कभी भी दो पेज से ज्यादा का नहीं बनना चाहिए दूसरी तरफ सीवी विस्तृत होता है| सीबी में कोई पेज लिमिट नहीं होती है | यह 10 से 15 पेज का भी हो सकता है |

 रिज्यूमे में एजुकेशन, वर्क एक्सपीरियंस के बाद आती है और सीरी में एजुकेशन डिटेल्स सबसे पहले आती है | रिज्यूमे जॉब प्रोफाइल के अनुसार चेंज होता है वहीं दूसरी तरफ सीवी हर जॉब के लिए समान होता है | यह जॉब प्रोफाइल के अनुसार चेंज नहीं होता है |

इंटरव्यू को सफल ढंग से देने के लिए दूसरी सबसे महत्वपूर्ण बात है आत्मविश्वास को बनाए रखना | ऐसा माना जाता है कि पहला इंप्रेशन ही आपका आखरी इंप्रेशन बनाता है | तो यदि आप विश्वास के साथ अपने सभी उत्तर को HR के सामने नहीं रखेंगे तो वह आप में कम रूचि लेगा और आपका सेलेक्ट होना भी मुश्किल होगा  |

साक्षात्कार की तैयारी कैसे करे
साक्षात्कार की तैयारी कैसे करे

Read others articles : 1. यूट्यूब से लाखों कमाने के 3 तरीके (YouTube से पैसे कैसे कमाए)

2. Full Form of SSC (SSC क्या होता है ?)

2. डर को निकाल दे :

देखिए दोस्तों अगर आपको किसी भी चीज में सफल होना है तो सबसे पहले आपको अपने मन से असफलता का डर निकालना होगा। व्यक्ति वही सफल होता है जो बिना किसी डर के अपने काम को करता रहता है और डर को मिटाने का एकमात्र यही उपाय है कि आपको उसका डटकर सामना करना  सीखना होगा।

मान लीजिए कि आपको स्टेज पर खड़े होकर लोगों के सामने बोलने से डर लगता है तो वह डर भी स्टेज पर जाकर बोलने से ही खत्म होगा ना ही कि उसके बारे में सोचने से।

याद रखिए डर ही हमेशा काम को सफल होने से रोकता है इसलिए यदि आप इंटरव्यूर के सामने बैठे हैं तो उसे इस बात का बिल्कुल पता न लगने दें कि आप नर्वस हैं या डरे हुए हैं | वह आपकी इस कमजोरी को भांप कर  आपके सामने मुश्किल सवालों की झड़ी भी लगा सकता है |

interview preparation in hindi एक ऐसा विषय है जो हर किसी के मन में एक न एक बार तो जरूर आता है।

3. अनुभवी लोगों से सलाह लें :

देखिए दोस्तों जब भी हम किसी काम में नए हो या उस काम की हमें ज्यादा समझ ना हो तो ऐसे में हमें हमेशा उन लोगों की मदद लेनी चाहिए जो इस चीज में अनुभवी हो। हम उनके अनुभवों से बहुत कुछ सीख सकते हैं। हम वह सभी ग़लतियाँ करने से बच सकते हैं जो शायद उन्होंने कभी की थी।

अपने सीनियर अध्यापक या जिन लोगों ने इंटरव्यू दिए हैं और सफल हुए हैं उनसे सलाह लें जैसे इंटरव्यू किस तरह लिया जाता है इंटरव्यू में किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं,  कैसे उनके उत्तर दिए जाते हैं, कैसे इंटरव्यू की तैयारी करनी चाहिए आदि|

4. इंटरव्यू से संबंधित वीडियोस देखें :

 देखिए दोस्तों यदि हमें किसी चीज के बारे में कम जानकारी है तो बेहतर यही होगा कि हम उनके बारे में जितनी ज्यादा जानकारी ले सकते हैं उतनी ले और आज के समय में सबसे ज्यादा जानकारी हम वीडियो देखकर ले सकते हैं। इसलिए आप इंटरव्यू से संबंधित जितनी वीडियोस देख सकते हैं उतनी देखें।

अगर आप यूट्यूब में सर्च करेंगे interview preparation in hindi तो आपको उस से रिलेटेड काफी वीडियोस मिलेंगे जो कि आपके लिए काफी मददगार साबित होगी

जिस नौकरी के लिए आप इंटरव्यू देने जा रहे हैं उससे संबंधित वीडियोस देखें | इसके लिए आप गूगल या यूट्यूब की मदद ले सकते हैं | इन वीडियोस में आप इंटरव्यू की पूरी प्रक्रिया देख सकते हैं कि इंटरव्यू लेने वाले किस तरह सवाल पूछते हैं और किस तरह से उनके जवाब दिए जाते हैं| इससे आपको काफी मदद मिलेगी |

5. संबंधित कंपनी के बारे में रिसर्च करें :

जिस कंपनी में आप इंटरव्यू देने जा रहे हैं उसके बारे में इंटरनेट और उस कंपनी की वेबसाइट से जरूरी जानकारी पता कर ले क्योंकि इंटरव्यू में इससे संबंधित सवाल भी पूछे जाते हैं तथा यह आपको एक गंभीर तथा जिम्मेदार कैंडिडेट के रूप में भी प्रस्तुत करता है | इसलिए कंपनी क्या काम करती है कंपनी के प्रोडक्ट,सर्विसेज,  मैन पावर,  मिशन,  विज़न, ग्रोथ,  कंपीटीटर्स, टर्नओवर आदि की संपूर्ण जानकारियां पता कर ले |

6. अपने डॉक्यूमेंट पूर्ण  रखें :

इंटरव्यू में जाने से पहले अपने सभी जरूरी दस्तावेज जैसे एकेडमिक सर्टिफिकेट,  डिप्लोमा या डिग्री सर्टिफिकेट, एड्रेस सर्टिफिकेट,  बायोडाटा,  कवर लेटर आदि पूर्ण करके उनकी मूल कॉपी फाइल या फोल्डर में क्रम से लगा ले तथा इनका एक अतिरिक्त फोटोकॉपी सेट अलग से लेकर चले | आपके पास एक पेन तथा एक डायरि या नोटबुक भी जरूर होनी चाहिए |

7. अच्छी तरह से ड्रेसअप होकर जाए :

एक अच्छी ड्रेस आपकी कॉन्फिडेंस लेवल को ही नहीं बढ़ाता बल्कि इंटरव्यू लेने वाले पर भी एक खास प्रभाव छोड़ती है | अच्छी तरह से ड्रेसअप होकर जाने से आपकी जिम्मेदारियों का भी एहसास होता है | इसलिए ऐसे कपड़े पहने जो आपकी जॉब और पोजीशन को सूट करें और जिसमें आप प्रोफेशनल लगे | इंटरव्यू में ज्यादा डिजाइनर चटकीले कपड़े या जींस पहन कर ना जाए |

अगर आप यह आर्टिकल interview preparation in hindi पूरा पढ़ेंगे तो मुझे नहीं लगता कि आपको आगे कहीं भी कोई दिक्कत आएगी।

8. करंट अफेयर्स की तैयारी कैसे करें :

यदि आप किसी गवर्नमेंट जॉब की इंटरव्यू के लिए जाते हैं तो संभव है कि वहां आपसे करंट अफेयर्स के सवाल भी पूछे जा सकते हैं | करंट अफेयर्स की जानकारी प्राप्त करने के लिए रोज 1 से 2 घंटे अखबार पढ़ें और सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को किसी डायरी में सहेज कर रखें जिससे कि इंटरव्यू के कुछ दिन पहले आप उन्हें फिर से देख सके |

आप जिस जगह रहते हैं वहां की सरकार और मौसम की भी पूर्ण जानकारी की खोज करें | गूगल प्ले स्टोर पर आपको कई ऐसे निशुल्क ऐप्स मिलेंगे जहां पर आप करंट अफेयर की तैयारी कर सकते हैं |

उम्मीद है interview preparation in hindi यह जानकारी आपके लिए अच्छी साबित होंगी | पूरी लगन और निष्ठा के साथ बिना डरे, लग जाइये इंटरव्यू की तैयारी में |

उम्मीद करता हूं कि interview preparation in hindi article आपको पसंद आया होगा अगर हा तो  इस article को share करके लोगों की मदद करो। आपका प्यार देने के लिए और ऐसे articles को हर रोज पढ़ने के लिए subscribe करें HindiLearners को।

Leave a Comment

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial